जिले में पहले चरण में होने वाले विधानसभा चुनाव के समर में उतरने के इच्छुक नेताओं की दौड़ तेज हो गई है। टिकट के लिए नेता पटना से लेकर दिल्ली तक की तेज दौड़ लगा रहे हैं। नेताओं के साथ सीटिंग एमएलए भी टिकट को लेकर बेचैन हैं, क्योंकि कई सीटिंग की सेटिंग पर भी संकट मंडरा रहा है। विभिन्न दलों से दावेदारी पेश करने वाले नेता अपने-अपने आकाओं से संबंध साध रहे हैं। कोई प्रदेश अध्यक्ष तो कोई राष्ट्रीय अध्यक्ष तो कई अपने करीबी मंत्री से टिकट के लिए संपर्क में लगे हैं। किसी भी तरह टिकट हासिल करने की फिराक में दावेदार लगे हुए हैं। जिले में प्रथम चरण में होने वाले चुनाव को ले एक अक्टूबर को अधिसूचना जारी होने के साथ नामांकन प्रारंभ हो जायेगा। आठ अक्टूबर तक नामांकन की अंतिम तिथि है। ऐसे में समय कम होने के कारण अमूमन हर दावेदार में बेचैनी है और वह क्षेत्र छोड़ पटना व दिल्ली में डेरा डाले हुए हैं। कुछ रांची से कनेक्शन भी जोड़ रहे हैं।

सीटिंग एमएलए की सीट पर भी कई नेता कर रहे दावेदारी

टिकट की दावेदारी का हाल यह है कि सीटिंग एमएलए के दल से ही कितने दावेदार उनका पत्ता काटकर अपने को आगे लाने के लिए जुगाड़ लगा रहे हैं। जिले के सात विधानसभा क्षेत्रों में से तीन-चार विस क्षेत्रों को छोड़ कर अन्य सभी क्षेत्रों में सीटिंग एमएलए के टिकट पर दावेदारी करने वालों की लाइन लगी हुई है। सीटिंग एमएलए का पत्ता काटकर अपना जुगाड़ लगाने वाले लोगों ने बकायदा बॉयोडाटा तक जमा किया है। साथ ही किसी भी तरह सीटिंग का टिकट काटकर खुद का जुगाड़ फिट करने के लिए हर तरह का हथकंडा अपना रहे हैं।

क्षेत्र छोड़ कई नेता टिकट के लिए डाले हैं डेरा

टिकट के दावेदार कई नेता क्षेत्र छोड़कर पटना व दिल्ली में डेरा डाले हुए हैं। सोशल मीडिया पर तो बाकायदा कई दावेदारों की तस्वीरें भी वायरल हो रही हैं। साथ ही कई दावेदार पार्टी कार्यालय से लेकर पार्टी के कद्दावर नेताओं के यहां पैरवी करते फिर रहे हैं। पिछले पंद्रह दिनों से टिकट के दावेदारों के लिए स्थिति ऐसी थी जैसे आरा से पटना और दिल्ली की दूरी घट गई हो। अक्सर आना-जाना होता था। इधर, चुनाव की अधिसूचना जारी होने के बाद से तो टिकट के दावेदारों ने डेरा ही डाल दिया है। बड़हरा विधानसभा क्षेत्र के एक दावेदार ने शनिवार को कार्यकर्ताओं के साथ बैठक की और रविवार को पटना के लिए निकल गये। कुछ फोन से भी लगातार कनेक्शन में हैं।

कुछ तो टिकट के लिए दोनों ओर के दरबार में साध रहे संपर्क

चुनावी समर में किस्मत आजमाने की बेचैनी कई नेताओं में इस कदर व्याप्त है कि वें दोनों ओर के दरबार में संपर्क साधे हुए हैं। कुछ नेता ऐसे हैं, जो अपने दल से टिकट के लिए जोर-आजमाईश करने के साथ विरोधी दल के नेताओं से भी संपर्क साधे हुए हैं। लगभग हर बार की तरह इस बार भी टिकट के लिए अंतिम समय में दल बदलने की तस्वीर सामने आने की भी पूरी संभावना है।

सभी सीटिंग एमएलए टिकट को ले आश्वस्त पर राह आसान नहीं

जिले के सभी सातों विधानसभा क्षेत्रों के सीटिंग एमएलए अपने-अपने टिकट को ले पूरी तरह आश्वस्त हैं। सभी विधायक अपना टिकट पक्का मान कर तैयारी में लगे हुए हैं, लेकिन सबकी राह उतनी आसान नहीं दिख रही है। दो या तीन सीटिंग एमएलए के टिकट पर संकट होने की चर्चा आम है। वैसे एक विधायक के बदले उनकी पत्नी को भी टिकट मिलना लगभग तय माना जा रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *