जिला मुख्यालय स्थित महाराजा कॉलेज के समीप 73.13 करोड़ की लागत से इंजीनियरिग कॉलेज का निर्माण कार्य शुक्रवार से शुरू हो गया है। लगभग 5 एकड़ भूमि में इंजीनियरिग कॉलेज के प्रशासनिक भवन का निर्माण कार्य होगा। बता दें कि पिछले 16 सितंबर को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार वीडियो कॉन्फ्रेंसिग के माध्यम से इसका शिलान्यास किए थे। इस इंजीनियरिग कॉलेज के निर्माण कार्य के लिए भवन निर्माण प्रमंडल, आरा को निर्माण एजेंसी बनाया गया है। शिलान्यास के बाद संवेदक और विभागीय उदासीनता के कारण इसका कार्य शुरू नहीं हो पाया था। जिलाधिकारी रोशन कुशवाहा के हस्तक्षेप के बाद भवन निर्माण विभाग ने संवेदक पर दबाव बनाकर निर्माण कार्य शुरू कराया है। निर्माण कार्य शुरू होने से शहरवासियों समेत आम लोगों में हर्ष का माहौल है। इस कॉलेज के बनने से यहां के लोगों की दशकों पुरानी मांग पूरी हो गई है।

इस कॉलेज के बन जाने से आरा समेत शाहाबाद के लोगों को भी इसका लाभ मिलेगा। इंजीनियरिग कॉलेज के आलीशान भवन बनने के साथ यहां रोजगार के नए अवसर भी खुलेंगे। सैकड़ों मजदूरों को रोजगार मिलेगा।

आधुनिक सुविधाओं से परिपूर्ण होगा इंजीनियरिग कॉलेज:

इस इंजीनियरिग कॉलेज का भवन आधुनिक सुविधाओं से लैस होगा। इसमें प्रशासनिक, शैक्षणिक भवन एवं कार्यशाला भवन के लिए भूतल के साथ तीन मंजिला भवन होगा। साथ ही बालक छात्रावास पांच मंजिला, बालिका छात्रावास तीन मंजिला एवं प्राचार्य के लिए दो मंजिलें क्वार्टर बनाया जाएगा। टाइप सी पांच मंजिलें भवन होंगे। चतुर्थ एवं तृतीय वर्ग के कर्मचारियों के लिए भी क्वार्टर बनेगा जिसका भवन चार मंजिल का होगा। भवन के चारों तरफ चहारदीवारी बनाने के साथ चार गेट भी लगाए जाएंगे। भवन के अंदर आंतरिक पथ, पाथवे एवं पार्किंग की भी उत्तम व्यवस्था की जाएगी। उपलब्ध स्थल को लैंडस्केप एवं हॉर्टिकल्चर के रूप में विकसित किया जाएगा। इसमें भूमिगत टैंक एवं पंप रूम लगाए जाएंगे। सीवरेज ट्रीटमेंट प्लांट के साथ ही मुख्य द्वार के पास एक ऑफिस भी बनाया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *