• पहले चरण के रजिस्टर्ड स्वास्थ्य कर्मचारियों में से 84 प्रतिशत लोग हो चुके हैं टीकाकृत
  • सभी पीएचसी केंद्रों पर दूसरे चरण के तहत टीकाकरण सत्र का हो रहा संचालन
    आरा, 16 फरवरी | जिले को कोरोना वायरस और संक्रमण से मुक्त करने के लिए टीकाकरण अभियान चलाया जा रहा है। पहले चरण में स्वास्थ्य कर्मियों को टीकाकृत करने के बाद दूसरे चरण में फ्रंटलाइन वर्कर्स को टीके का पहला डोज दिया जा रहा है। हालांकि, सरकार व राज्य स्वास्थ्य समिति से मिले निर्देशों के तहत पहले चरण में टीके का पहला डोज ले चुके स्वास्थ्य कर्मियों को 28 दिन पूरे होने के बाद अब टीके का दूसरा डोज दिया जा रहा है। इसके लिए विभाग ने सोमवार व गुरुवार का दिन निर्धारित किया है। इस संबंध में जिला प्रतिरक्षण पदाधिकारी डॉ. संजय कुमार सिन्हा ने बताया पहले चरण में स्वास्थ्य कर्मियों को टीके का पहला डोज दिया गया था। जैसे- जैसे लाभार्थियों के 28 दिन पूरे हो जाएंगे। पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन के अनुसार उनको दूसरे डोज का टीका लेने के लिए आंमत्रित किया जाएगा।
    भ्रामक खबरों पर विश्वास न करें :
    डॉ. सिन्हा ने बताया अब तक कोविड-19 की का वैक्सीन लेने के बाद किसी प्रकार की कोई परेशानी नहीं हुई है। सभी रजिस्टर्ड फ्रंट लाइन वर्कर व स्वस्थ्य कर्मी इसे बिना डरे लगाएं। लोग स्वयं, अपने परिवार व अपने समाज को कोविड-19 से पूरी तरह सुरक्षित कर सकें। उन्होंने जिलेवासियों से वैक्सीन को लेकर किसी भी अफवाह और भ्रामक खबरों पर विश्वास न करने की अपील की। पहले चरण के लगभग 84 प्रतिशत लोगों ने टीका ले लिया। फिलहाल दूसरे चरण के तहत टीका दिया जा रहा है। जो लोग पहले चरण में टीका लेने से वंचित रह गए हैं, इस दौरान उन लोगों को भी टीकाकृत किया जा रहा है।
    पुलिस जवानों में वैक्सीन के प्रति दिख रहा है उत्साह :
    डॉ. सिन्हा ने बताया पुलिस वालों में वैक्सीन के प्रति काफी उत्साह दिख रहा है। शायद, यही वजह है कि बड़ी संख्या में पुलिस वाले उत्साहित होकर वैक्सीन के लिए वैक्सीनेशन सेंटर आ रहे हैं। इसके अलावा निर्धारित लक्ष्य को हर हाल में ससमय पूरा करने के लिए स्वास्थ्य विभाग व अन्य सहयोगी विभाग की टीम द्वारा पुलिस को वैक्सीन को लेकर जागरूक भी कर रहे हें हैं। किसी भी पुलिस वाले में वैक्सीन को लेकर किसी प्रकार की का दुविधा नहीं रहे हें।
    गाइडलाइन का रखा जा रहा है ख्याल :
    डॉ. सिन्हा ने बताया वैक्सीनेशन सेंटर पर टीकाकरण अभियान के का सफल संचालन के लिए जारी गाइडलाइन का भी ख्याल रखा जा रहा है। ताकि वैक्सीन लेने वालों को किसी प्रकार की परेशानी का सामना न करना पड़े। सुरक्षा के मद्देनजर सेंटर पर तीन कमरे बनाए गए हैं। जिसमें पहला कमरा रजिस्ट्रेशन, दूसरा वैक्सीनेशन एवं तीसरा अवलोकन कक्ष बनाया गया है। इसके अलावा वैक्सीनेशन सेंटर पर तैनात स्वास्थ्य कर्मियों द्वारा सुरक्षा के मद्देनजर हर मानकों का पालन किया जा रहा है। जिससे किसी प्रकार के संक्रमण का खतरा उत्पन्न नहीं हो। इसके लिए सभी कर्मी मास्क, ग्लब्स, सैनिनीटाइजर, शारीरिक दूरी समेत बचाव से संबंधित अन्य उपायों को अपनाकर अपनी ड्यूटी कर रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *