कोविड का टीका है संक्रमण के खिलाफ सुरक्षा कवच: अनिल सिंह

• कोविड अनुरूप आचरण अपनाने के लिए कर रहे हैं जागरू

“ कला एक सशक्त माध्यम है जिससे जनहित का संदेश समुदाय तक सरल एवं रोचक तरीके से पहुँचाया जा सकता है| सरकार द्वारा कोरोना संक्रमण से निरंतर लड़ाई में टीकाकरण रामबान साबित हो सकता है| मेरा प्रयास है जनसमुदाय को टीकाकरण के लिए अपनी कला के माध्यम से जागरूक करूँ| जिससे अधिक से अधिक संख्या में लोग आगे आकर टीकाकरण करवाएं और संक्रमण से स्वयं एवं अपने घरवालों को सुरक्षित रखें”| यह कहना है भोजपुर निवासी रंगकर्मी अनिल सिंह का| अनिल संस्कार भारती संस्था के जिला सचिव हैं | यह संस्था नाटक मंचन द्वारा सामाजिक हित के विभिन्न मुद्दों को उजागर करती है | रंगकर्मी अनिल जी संक्रमण काल में अपनी जिम्मेदारी समझते हुए समुदाय में कोविड संक्रमण से सुरक्षा और जारी टीकाकरण की ज्योत जगा रहे हैं|
कोविड का टीका है संक्रमण के खिलाफ सुरक्षा कवच:
अनिल बताते हैं जिला में कोरोना का संक्रमण एक बार फिर पांव फैला रहा है और यह सभी के लिए खतरे की घंटी है| इस समय अनुशासित रहकर सरकार द्वारा बताए गए दिशानिर्देशों का सख्ती से पालन करना और अगर व्यक्ति विशेष की आयु 45 वर्ष या उससे ज्यादा है तो शीघ्र टीकाकरण कराकर स्वयं को सुरक्षित करने की जरूरत है| कोविड टीकाकरण की प्रक्रिया को सरकार द्वारा आम आदमी के लिए सरल कर दिया गया है और ऑन स्पॉट निबंधन की व्यवस्था भी शुरू की गयी है| टीका का दोनों डोज लेकर खुद और अपने प्रियजनों को सुरक्षित करने का टीकाकरण सबसे सुगम तरीका है| कोविड टीकाकरण कोरोना संक्रमण के खिलाफ सबसे बड़ा सुरक्षा कवच है|
कोविड अनुरूप आचरण का पालन करेगा संक्रमण से सुरक्षा:
अनिल ने बताया होली के बाद जिले में बाहर से घर आये लोगों की संख्या में तेजी से इजाफा हुआ है और इनमे कौन संक्रमित है यह कोई नहीं जनता| ऐसे में सरकार द्वारा बताए गए दिशानिर्देशों जैसे बाहर निकलने पर मास्क का सही ढंग से उपयोग, भीड़ वाली जगहों से बचना और स्वच्छता का ध्यान का सख्ती से पालन करना लोगों को संक्रमण से काफी हद तक बचा सकता है| लोगों से अपील करते हुए उन्होंने बताया संक्रमण के लक्षण नजर आने पर तत्काल चिकित्सकों की सलाह लें और नीम हकीम जैसे लोगों से बचें| याद रखें बचाव ही सबसे बड़ी सुरक्षा है| टीकाकृत व्यक्तियों को टीका लेने के बाद भी कोविड अनुरूप आचरण का पालन करते रहना चाहिए|
स्वयं पहल कर समुदाय के समक्ष उदाहरण प्रस्तुत करें:
अनिल ने बताया इस समय जब टीकाकरण का लाभ आम आदमी जिनकी उम्र 45 वर्ष या उससे अधिक है को निःशुल्क सरकारी स्वास्थ्य संस्थानों में उपलब्ध कराया गया है तो लोगों को आगे आकर टीकाकरण करवाना चाहिए और अपने परिवार के लोगों और अड़ोस पड़ोस तक यह सन्देश पहुँचाना चाहिए कि टीकाकरण सुरक्षित है और अभी संक्रमण से सुरक्षा का सबसे सशक्त जरिया है| समाज में उदाहरण पेश करें और जारी टीकाकरण अभियान में प्रशासन एवं स्वास्थ्य विभाग का सहयोग करें|

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *