• वेब पोर्टल के पत्रकारों को भी मिलेगी सुविधा
• राज्य स्वास्थ समिति के कार्यपालक निदेशक ने जारी किया निर्देश
• फ्रंटलाइन वर्कर के रूप में अपने कर्तव्यों का बखूबी निर्वहन कर रहे हैं पत्रकार

आरा, 3 मई। वैश्विक महामारी कोरोना संक्रमण के खिलाफ लड़ाई में हर कोई एक योद्धा के रूप में अपने कर्तव्यों का बखूबी निर्वहन कर रहा है। इस संक्रमण के खिलाफ चिकित्सक, पुलिस कर्मी, स्वास्थ्य कर्मी, सफाई कर्मी के साथ साथ जिले के पत्रकार भी योद्धा के रूप में कार्य कर रहे हैं। ऐसे में पत्रकारों के स्वास्थ्य सुरक्षा के प्रति चिंतित स्वास्थ्य विभाग ने एक अहम निर्णय लिया है। इसको लेकर पत्रकारों को फ्रंटलाइन वर्कर के रूप में शामिल कर कोविड-19 का टीकाकरण किए जाने का आदेश दिया गया है। इस संबंध में राज्य स्वास्थ्य समिति के कार्यपालक निदेशक मनोज कुमार ने पत्र जारी कर सभी सिविल सर्जन को आवश्यक दिशा निर्देश जारी किया है। जारी पत्र में निर्देश दिया गया है कि सूचना एवं जनसंपर्क विभाग द्वारा एक्रेडिटेड सभी पत्रकारों के साथ साथ जिला जनसंपर्क पदाधिकारी द्वारा सत्यापित प्रिंट, इलेक्ट्रॉनिक एवं वेब मीडिया के पत्रकारों को फ्रंटलाइन वर्कर की श्रेणी में शामिल कर उन्हें कोविड-19 का टीकाकरण प्राथमिकता के आधार पर दिया जाएगा। कार्यपालक निदेशक ने निर्देश दिया है कि जिला अंतर्गत ऐसे सभी चिन्हित पत्रकारों को प्राथमिकता के आधार पर कोविड-19 का टीकाकरण किया जाना सुनिश्चित किया जाए।

कोविड के दोनों टीके हैं जरूरी:
कोविड-19 का टीका दो डोज में पूरा किया जाएगा। सभी लाभार्थियों को दोनों डोज लेना अनिवार्य है। कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए कोविड-19 का टीकाकरण कारगर हथियार साबित हो रहा है। वैक्सीन के दोनों डोज लेने के करीब 4 सप्ताह बाद कोविड-19 के खिलाफ शरीर में प्रतिरोधक क्षमता का विकास होता है। ऐसे में टीका लेने के बाद भी सावधानी बरतना अति आवश्यक है। पहला डोज लेने के बाद समय अंतराल पूरा होने पर दूसरा डोज भी अवश्य लें। तभी आप खुद को और अपने परिवार को सुरक्षित रख सकेंगे।

ऑनलाइन करना होगा रजिस्ट्रेशन:
कोविड-19 का टीका लेने के लिए पत्रकारों को भी कोविन पोर्टल या आरोग्य सेतु एप के माध्यम से ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन करना होगा। रजिस्ट्रेशन करने के बाद नजदीकी टीकाकरण केंद्र पर जाकर अपना टीकाकरण करा सकते हैं। टीकाकरण केंद्रों पर अपने और अपनों की भलाई के लिए सब से दूरी बनाते हुए सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना जरूरी है।

सुरक्षा नियमों का पालन करना सबकी जिम्मेदारी:
संकट की इस घड़ी में हम सब की यह जिम्मेदारी है कि हम सभी सुरक्षा नियमों का सख्ती से पालन करें। एक-दूसरे के प्रति करुणा और दया का भाव रखें और जहां तक हो सके एक-दूसरे की मदद करें। मास्क का उपयोग अत्यंत आवश्यक है। जब भी आप बाहर जाएँ, दूसरों से मिलें या किसी कोविड संक्रमित व्यक्ति के पास जाएं, त्रिस्तरिए मास्क का प्रयोग करें। घर से बाहर निकालने की स्थिति में शारीरिक दूरी (कम-से-कम दो गज) का पालन अत्यंत जरूरी है तथा साबुन से कम-से-कम 60 सेकेंड तक अपने हाथों को नियमित धोते रहें। बच्चों, बुजुर्गों, गर्भवती महिलाओं तथा अन्य बीमारियों से ग्रसित लोगों का विशेष ध्यान रखें और सभी पात्र-लाभार्थी समय पर कोविड का टीका अवश्य लें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *