bhojpur darshan news

दनियावां(पटना)। प्रखंड के पच्छिमी इलाका स्थित महतमाईंन या लोकाईन और भुतही, धोबा इन बरसाती नदियों में उफान आने से किसानों के चेहरों पर ख़ुशी व्याप्त है।नदी का पानी कमोवेश सभी 6 पंचायतों के खंधा में पुल, पुलिया, होमपाइप नुमा नल के खुले होने से प्रवेश कर रहा है।किसानों का कहना है कि इस बार सही समय पर पानी आने से धान की खेती में सुबिधा हुई है।परमरागत जलश्रोत आहार,पईन,पोखर में भी बर्षा और नदी के उफान से पानी पर्याप्त मात्रा में आने से धान की खेती में सिंचाई सुविधा मिली है।
बीएओ का बयान
प्रखंड कृषि पदाधिकारी मनोज कुमारी चौधरी ने कहा कि कुल 2500 हेक्टेयर में धान रोपणी के लक्षय के करीब अभी 15 फीसदी यानी 375 हैक्टेयर में ज्यादातर हाइब्रीड धान की रोपणी हुई है।शाहजहांपुर, सिंगरियावां व खरभैया पंचायत के 12 राजस्व गाँव में पुनर्बशु नक्षत्र में हुई पिछले 3 दिनों में हुई वर्षापात से किसानों ने खेतों में कादो कर रोपणी शुरू कर दी है। रोहणी नक्षत्र में तैयार बिचड़े से धान की फसल में अधिक कल्ले फूटते हैं ऐसा पटना जिला के कृषि विभाग से जुड़े कर्मियों का मानना है। दनियावां, शिवचक, टेकाबीघा, पीर-बढ़ौना, सलारपुर, बाँकीपुर, सिकन्दरपुर, दोस्तमोहम्मदपुर, कुंडली, जमालपुर, नियामतपुर, शोहपर, तोप-सरथुआ, नबीचक,केवई व रामलालपुर समेत अधिकांश गांव में प्राप्त जानकारी के मुताविक धान की खेती के लिए किसान जारी लॉकडाऊन के बाबजूद मोरी यानी बिचड़े को निकालकर रोपण कार्य कर रहें हैं।हसन, कजली, सोता, निगारी, छितुरभीर पईन व पुल से पानी की उपलब्धता सुनिश्चित करने के लिए कृषक सुधार समिती से किसान संवाद कायम कर आगे की रणनीति तैयार कर रहे हैं।किसान समन्वयक अमृता कुमारी,सलाहकार शिवकुमार चौधरी,राजेश रंजन ने कहा कि ब्लॉक और पैक्स के द्वारा फोस्फेटिक,पोटाश व यूरिया इन उर्वरकों की उपलब्धता के लिए जिला कृषि पदाधिकारी के ऑफिस से ऑनलाइन काउंसिलिंग की जा रही है। प्रगतिशील किसान संघ के कौशल किशोर, नागेन्द्र प्रसाद, रमेश कुमार, बब्बन सिंह, शशिकान्त दिवाकर, बिपिन बिहारी निर्मल ने कहा कि सस्ते दामों पर उर्वरक की सप्लाई के लिए सरकारी स्तर पर सहायता मिलने के लिए कृषि विभाग और इसके अधिकारी किसान संघों से संवाद कायम रखें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *