आरा। जिलाधिकारी रोशन कुशवाहा के आदेश के आलोक में सदर अनुमंडल पदाधिकारी वैभव श्रीवास्तव ने गंगा नदी समेत विभिन्न नदियों के जलस्तर में वृद्धि के मद्देनजर नाविकों को नियमानुसार नाव का परिचालन करने का निर्देश जारी किया है। साथ ही महुली गंगा घाट समेत सात घाटों को अति संवेदनशील मानते हुए सात दंडाधिकारी एवं पुलिस पदाधिकारियों की प्रतिनियुक्ति की है। राज्य सरकार द्वारा इस संबंध में जारी गाइडलाइन का पालन नहीं करने वाले नाविकों के विरुद्ध प्राथमिकी दर्ज कर जुर्माना वसूलने की कार्रवाई की जाएगी। आदेश में कहा गया है कि बड़हरा क्षेत्र अंतर्गत महुली गंगा घाट पर बढ़ते जलस्तर के कारण दुर्घटना घटित होने एवं जानमाल की क्षति की संभावना से इंकार नहीं किया जा सकता। ऐसी स्थिति में महुली गंगा घाट की संवेदनशीलता के मद्देनजर विशेष सतर्कता बरतते हुए आदर्श नौका परिचालन नियमावली 2011 के प्रावधानों का अनुपालन सुनिश्चित कराने हेतु दंडाधिकारी, पुलिस पदाधिकारी और पुलिस बल के साथ चौकीदारों की प्रतिनियुक्ति का आदेश दिया गया है। इसके लिए सात प्रतिनियुक्ति स्थल चिन्हित किए गए हैं एवं साप्ताहिक रोस्टर तैयार कर अलग-अलग सात टीम गठित किया गया है। सभी प्रतिनियुक्त कर्मी, पुलिस पदाधिकारी और चौकीदार को निर्देशित दिया गया है कि पत्र में दिए गए आदेशों का अक्षरश: अनुपालन सुनिश्चित कराएं। साथ ही सभी अंचलाधिकारी एवं प्रखंड विकास पदाधिकारी को अपने-अपने क्षेत्र में पड़ने वाले घाटों विशेषकर सोन नदी और महुली गंगा घाट का निरंतर भ्रमण और निरीक्षण कर सतत निगरानी रखने का निर्देश दिया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *